दिल्ली सीमा से सटे सभी बॉर्डर सील, पुलिस की सख़्ती से लोग हलकान

गाजियाबाद। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए दिल्ली सीमा से सटे सभी बॉर्डर पूरी तरह से सील कर दिए गए हैं।सोमवार की अपेक्षा मंगलवार को इन बॉर्डरों पर पुलिस की सख्ती बढ़ गई है जिसके कारण लोग दिनभर हलकान रहे। पुलिस सघन जांच-पड़ताल के बाद केवल जरूरी सेवाएं देने वालों को आवाजाही की अनुमति दे रही है। 

एसएसपी कलानिधि नैथानी के मुताबिक हिंडन पार क्षेत्र में लॉकडाउन का उललंघन करने के मामले में कुल 52 एफआईआर दर्ज की गई है जिनमें इंदिरापुरम में पांच, साहिबाबाद में सात, लिंक रोड में पांच कौशांबी में 11 टीला मोड़ में 10 और खोड़ा में 14 एफआईआर दर्ज की गई है। कौशांबी बस अड्डे के सामने महाराजपुर बॉर्डर को पूरी तक सील कर दिया गया है। इस वजह से जरूरी सेवाएं देने वाले लोगों को ही आने-जाने दिया जा रहा है। मंगलवार की सुबह दिल्ली जाने वालों की संख्या ज्यादा रही लेकिन दोपहर में पुलिस ने ज्यादा सख्ती कर दी। इस दौरान लोग दिल्ली की तरफ से अपने परिवार के साथ गाजियाबाद की सीमा की तरफ आते दिखे। गाजियाबाद के लोग दिल्ली की तरफ जाने की कोशिश करते रहे जिन्हें पुलिसकर्मियों ने वापस लौटा दिया। 

बॉर्डर पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने पुलिसकर्मियों को सावधानी बरतने का निर्देश दिया। पुलिस वाहनों से आने-जाने वाले लोगों के आईडी कार्ड देखकर ही प्रवेश दे रही है। दूध, ब्रेड, पानी, सब्जी और राशन वाले सामानों की गाड़ियों को निर्बाध रूप से चेकिंग के बाद आने-जाने दिया जा रहा है। इसके अलावा जीटी रोड एवं भोपुरा बॉर्डर पर सुबह 8 से 10 तक वाहन नजर आए। दैनिक जरूरतों के सामान वाले वाहनों की चेकिंग के बाद बॉर्डर से आवाजाही बरकरार रही। पुलिस ने जीटी रोड़ स्थित बॉर्डर को भी सील किया है। इस दौरान बॉर्डर के आसपास पैदल आने जाने वाले लोग सुबह के समय दिखे।  

ज़िलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय ने अलग-अलग स्थानों का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि पैदल यात्रियों के लिये ज़िला प्रशासन ने बसों की व्यवस्था कराई है, जो उन्हें उनके गंतव्य स्थान पर सुरक्षित पहुंचाएगी। ज़िलाधिकारी ने जनपद के सभी बिल्डर्स को निर्देश दिए हैं कि वह किसी भी लेबर को घर जाने को मजबूर नहीं करेंगे और उनके खान-पान का पूरा प्रबन्ध करेंगे । 

This post has already been read 385 times!

Sharing this

Related posts