कुछ देर बाद एक ऑटो चालक ने उन्हें अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया

Dhanbad : जिला एवं सत्र न्यायाधीश अष्टम उत्तम आंनद हर दिन की तरह बुधवार को भी मॉर्निंग वॉक के लिए निकले थे. इसी दौरान एक ऑटो ने उन्हें टक्कर मार दी, जिससे वे गंभीर रूप से घायल होकर सड़क पर गिर गए. एक ऑटो चालक ने उन्हें SNMMCH पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. इस घटना का सीसीटीवी फुटेज सामने आया है, जिसमें उन्हें एक ऑटो टक्कर मारते दिख रहा है. उत्तम आंनद चर्चित रंजय हत्याकांड की सुनवाई कर रहे थे.

और पढ़ें : आरा मिलों को पूरी तरह ध्वस्त कर दिया गया,मशीन टूल्स,जेनरेटर आदि जब्त कर लिया गया

जानकारी के अनुसार हर सुबह उत्तम आंनद मॉर्निंग वॉक के लिए निकलते थे. रणधीर वर्मा चौक स्थित जज आवास से गोल्फ ग्राउंड तक वे मॉर्निंग वॉक करते थे. बुधवार को भी सुबह वह वॉक के लिए निकले थे, लेकिन सुबह सात बजे तक वह वापस नहीं लौटे, जिसके बाद परिजनों ने मामले की सूचना सदर थाना को दी. सूचना मिलने के बाद पुलिस महकमे में खलबली मच गई, जिसके बाद उनकी तलाश शुरू की गई. सदर थाना की पुलिस को SNMMCH में एक लावारिस शव पड़े होने की सूचना मिली, जिसके बाद पुलिस अस्पताल पहुंची. न्यायाधीश के बॉडीगार्ड ने शव की पहचान की. उत्तम आंनद के सिर पर गहरे जख्म हैं, साथ ही कान से खून बह रहा था.

इसे भी देखें : विराट और विराज, उम्र 7 साल, कारनामा : इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में नाम दर्ज

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस छानबीन में जुट गई है.जज की मौतचर्चित रंजय हत्याकांड की सुनवाई कर रहे थे उत्तम आनंद
न्यायाधीश उत्तम आनंद ने छह महीने पहले ही जिला एवं सत्र न्यायाधीश अष्टम के पद पर ज्वाइन किया था. इससे पहले वे बोकारो के जिला एवं सत्र न्यायाधीश थे. चर्चित रंजय सिंह हत्याकांड की सुनवाई न्यायाधीश उत्तम आनंद कर रहे थे. रंजय सिंह धनबाद के बाहुबली नेता और झरिया के पूर्व विधायक संजीव सिंह के काफी करीबी माने जाते थे. कुछ दिन पहले ही शूटर अभिनव सिंह और अमन का गुर्गा रवि ठाकुर की जमानत याचिका उन्होंने खारिज कर दी थी. आशंका जताई जा रही है कि रंजय सिंह हत्याकांड मामले में ही उनकी हत्या की गई है.

This post has already been read 3004 times!

Related posts