अल्कोहल और स्वास्थ्य

हृदय रोग और अल्कोहल अत्यधिक शराब का सेवन करने से गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं जैसे लीवर डिसीज, कैंसर और पेप्टिक अल्सर के साथ ही दूसरे कईं अन्य गंभीर रोगों की आशंका बढ़ जाती है। नियमित रूप से या अत्यधिक मात्रा में अल्कोहल का सेवन आपके हृदय को नुकसान पहुंचा सकता है और इसके कारण हृदय की मांसपेशियों का रोग जिसे कार्डियोमायोपैथी कहते हैं हो जाता है। अधिक मात्रा में शराब पीने से हृदय की धडकनें अनियमित हो जाती हैं, जिसे अर्राइथमियास कहते हैं।

अल्कोहल हमारे स्वास्थ्य को कैसे प्रभावित करती है:- अल्कोहल एक विषैला पदार्थ है। अगर इसका सेवन कम मात्रा में किया जाए तब भी यह हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है क्योंकि यह लिपिड (वसा) को घोलने का कार्य करता है। नियमित रूप से थोड़ी मात्रा में भी अल्कोहल का सेवन (महिलाओं के लिए एक ड्रिंक और पुरूषों के लिए दो ड्रिंक्स प्रतिदिन) कोशिका भित्ती में लिपिड को घोल देता है या विघटित कर देता है और कोशिका में प्रवेश कर उन्हें नष्ट कर देता है इसके साथ ही पास स्थित कोशिकाओं की संरचना को भी क्षति पहुंचाता है। अल्कोहल को शरीर में स्टोर भी नहीं किया जा सकता। इसलिए शरीर इसको मेटॉबोलाइज करने के लिए अधिक तेजी से कार्य करता है और इस प्रक्रिया में शरीर में संग्रहित बहुत सारे विटामिनों और मिनरलों का उपयोग हो जाता है, जिसके कारण पोषक तत्वों की अत्यधिक कमी हो जाती है। विटामिन बी कॉम्लेक्स और फोलेट की कमी के कारण एंग्जाजइटी, डिप्रेशन, हृदय और तंत्रिकाओं से संबंधित समस्याएं हो जाती हैं। पोटेशियम और मेग्नेशियम की कमी के कारण कमजोरी, थकान और भूख न लगने की समस्या हो जाती है। अल्कोहल के कारण मुंह, ओरोफैरिंग्स, लीवर, इसोफेगस और स्तन कैंसर हो सकता है। इसके कारण डिपेंडेंस सिंड्रोम, सिरोसिस, पैंक्रियाटाइटिस (एक्यूट और क्रॉनिक), गैस्ट्रीटिस, पॉलीन्यूरोपैथी, हेमरेजिक स्ट्रोक, साइकोसेस, मिर्गी के दौरे और दूसरी मानसिक स्वास्थ्य समस्याएं हो जाती हैं।

-डॉ. एस.के. मुद्रा, सीनियर कंसल्टेंट, इन्टरनल मेडिसीन, सरोज सुपर स्पेशियालिटी हॉस्पीटल,

This post has already been read 143261 times!

Sharing this

Related posts

Leave a Comment