सेहत पर जब उल्टी पड़ जाए कसरत

अपने शरीर को चुस्त-दुरुस्त और लचीला बनाए रखने के लिए आजकल हर उम्र वर्ग के लोग जिम की सदस्यता ग्रहण कर रहे हैं। इनमें इसी चमत्कार की तरह वजन कम कर लेने की मंशा से लेकर कम कसरत में या हफ्ते में एक दिन की कसरत से फिटनेस बनाए रखने का विचार लेकर चलने वाले लोग भी शामिल हैं। लेकिन क्या वाकई जिम किसी जादू की तरह काम कर सकता है… व्यायाम से जुड़ी भ्रांतियां जिम को लेकर लोगों के मन में जो एक आम ख्याल होता है वह है,…

Read More

रोमांच और सपनों का देश थाईलैंड

मुस्कुराते हुए लोगों के देश थाईलैंड को स्माइलिंग कंट्री कहना गलत नहीं लगता। पर्यटकों के स्वागत में मुस्कराहट बिखरते यहां के लोग बेहद शांतिप्रिय हैं। यहां की अधिकतर आबादी बौद्ध धर्मावलंबी है। छोटे से इस देश में वर्षभर में 9 मिलियन सैलानी आते हैं। इसीलिए कारण पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए यहां कई तरह की सुविधाएं उपलब्ध हैं। अत्याधुनिक इमारतें, व्यस्ततम बिजनेस एवं शॉपिंग मॉल और बड़े-बड़े एक्सप्रेस हाइवे हैं। यहां विदेशी पर्यटकों की सुविधा का काफी खयाल रखा जाता है। बैंकाक थाईलैंड पर्यटन की शुरुआत बैंकाक से होती…

Read More

बाथरूम को भी बनाएं मोहक

आपका बाथरूम स्टाइल के प्रति आपकी समझ बयां कर सकता है। इसलिए खूबसूरत टाइल्स व साज-सजावट की अन्य चीजों से अपने बाथरूम का रूप निखारें। फैबफर्निश डॉट कॉम की स्टाइल निदेशक कौशिकी गोन ने बाथरूम में चार चांद लगाने के कुछ टिप्स शेयर किए हैं… ट्रेंडी टाइल्स: यह अपने छोटे से बाथरूम को बड़ा व आकर्षक दिखाने का यह सबसे पहला और आसान तरीका है। इसे बड़ा लुक देने के लिए चटख या गहरे रंग की टाइल्स का इस्तेमाल करें। आप प्रकृति का अहसास पाने के लिए डिजिटली-प्रिंटिड टाइल्स भी…

Read More

युवाओ को खूब भा रहा है घर से काम करने का ट्रेंड

घर से काम करने का चलन काफी तेजी से बढ़ रहा है। युवाओं को यह नया ट्रेंड खूब भा रहा है। कहीं भी कभी भी काम की सहूलियत न सिर्फ आमदनी को बढ़ाने का अच्छा जरिया है, बल्कि नए-नए असाइनमेंट की चुनैतियां भी इसे रोमांचक बना रही हैं। कैसे करें घर से काम की शुरुआत, बता रहे हैं हम… कितना अच्छा हो कि टाइम से ऑफिस पहुंचने के लिए रोज आपको अपनी नींद ना खराब करनी पड़े। कितना अच्छा हो कि किसी काम को करवाने के लिए आपका बॉस आपके…

Read More

मोह और सत्य

-श्री सुभद्र मुनिजी- एक ऋषि थे। नाम था बलाधी। तरुण अवस्था में ही उनका इकलौता पुत्र चल बसा। ऋषि शोक से व्याकुल हो उठे। समय भी उनका घाव न भर सका। शोक-आवेग से ग्रस्त मन ने इच्छा व्यक्त की- पुत्र हो तो ऐसा, जो कभी मृत्यु को प्राप्त न हो। धीरे-धीरे यह इच्छा संकल्प बनती गई। तपोबल ही ऋषि का धन था। इच्छित स्थिति पाने के लिए वह सब उन्होंने दांव पर लगा दिया। इंद्र की उपासना आरंभ कर दी। उपासना हेतु अपा क्षण-प्रतिक्षण समर्पित कर दिया। इसका प्रतिफल उन्हें…

Read More

चोरी और ईनाम (बाल कहानी)

-अनूपा लाल- (अनुवाद-अरविन्द गुप्ता) ज्वार राज्य पूरी तरह डर के माहौल में ग्रस्त था। कई हफ्तों से लगातार चोरियां हो रहीं थीं और हर बार चोर आसानी से भागने में सफल हो जाता था। रईसों के घरों में चोरी हुई थी और गरीबों के घरों में भी। जब राजकोश में चोरी हुई तब नवाब साहब कुछ जागे। एक राजसी फरमान जारी किया गया। जो कोई भी चोर को पकड़ेगा उसका नवाब साहब सम्मान करेंगे और उसे इतना धन दिया जाएगा जिससे वो अपनी बाकी जिंदगी सुख-चैन से बिता सके। शेख…

Read More

शिन की तिपहिया साइकिल (कहानी)

(अनुवादः अरविन्द गुप्ता) (ये एक ऐसी कहानी है जो बच्चों के दिलों में, हमेशा-हमेशा के लिए जंग और लड़ाई के खिलाफ नफरत पैदा करेगी। लड़ाई में बड़े-बड़े नेता और फौज के जनरल नहीं मरते हैं। उसमें मरते हैं शिन जैसे तीन साल के निरीह बच्चे। शिन अपनी तिपहिया साइकिल चला रहा था जब हिरोशिमा पर अमरीका ने एॅटम-बम फेंका। ये कहानी हमें हमेशा जंग के विनाश की याद दिलाएगी।) हर साल जब अगस्त आती है तो मुझे फिर वही पुरानी यादें सताती हैं। मुझे बार-बार अपने पुत्र शिन का चेहरा…

Read More

कम बजट में मजेदार वैकेशन, ऐसे करें प्लान

घूमने जाने की प्लानिंग है, लेकिन मोटा बजट देखकर मूड ऑफ हो रहा है। तो चलिए इन टिप्स की हेल्प से अपने मूड के फ्रेश बटन को क्लिक कर लें, क्योंकि ये आपको कम बजट में बढि़या ट्रिप एंजॉय करने का सीक्रेट बताएंगे हम…. बढि़या वैकेशन वही है, जो आपको रिफ्रेश भी कर दे और इसका भार आपकी जेब भी ज्यादा हल्की ना करे। बेशक यह स्मार्ट ट्रैवलर की निशानी है, जो आप कुछ बातों को ध्यान में रखकर बन सकते हैं। एडवांस में करें प्लान आप कहां जा रहे…

Read More

परेशानी खड़ी कर सकती है कानों की समस्या

जिस ठंडी हवा को हम खुले चेहरे पर तेजी से महसूस करते हैं वही असल में हमारे कानों के लिए तकलीफदायक भी हो सकती है। सीधे कानों में जाने वाली यह हवा फंगस का कारण भी बन सकती है। ठीक इसी तरह नहाते समय कान में गई पानी की एक बूंद भी फंगस पैदा कर सकती है। कानों में होने वाले ज्यादातर इन्फेक्शंस ईयर केनाल यानी ओटाइटिस एक्सटर्ना, ईयरड्रम और मिडिल इयर यानी ओटाइटिस मेडिया में होते हैं। इनके पीछे बड़ा कारण कानों पर अत्यधिक दबाव बनना, बैक्टीरिया या वायरस…

Read More

अल्लाह के नजदीक मुश्क की खुशबू से बेहतर है रोजेदार के मुंह की बू

रोजेदार की अपनी भूख-प्यास जहां उसमें ईशपरायणता, आत्मनियंत्रण, अल्लाह के आज्ञा-पालन और धैर्य के गुण पैदा करने का जरिया बनती है वहीं रोजोदार को इंसानों पर भूख-प्यास और दुख-दर्द में जो कुछ बीतती है उसका आस्वादन भी कराती है। इस निजी अनुभव से उसके भीतर सहानुभूति की जीवंत भावना पैदा हो जाती है। यद्यपि रमजान के महीने में रोजे रखना हर आकिल व बालिग इंसान पर अनिवार्य है, तथापि बीमारों तथा मुसाफिरों को छूट दी गई है कि वे इस महीने में रोजों से चूक जाएं तो अन्य दिनों में…

Read More