बच गये ब्लैक फ्राइडे से

: योगिता पाठक बीते कारोबारी सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन यानी 21 सितंबर को भारतीय शेयर बाजार में अचानक उस वक्त हड़कंप मच गया, जब बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के सूचकांक सेंसेक्स ने एक झटके में लगभग 1500 अंकों का गोता लगा दिया। ये सप्ताह शेयर बाजार के कारोबारियों के लिए काफी बुरा सप्ताह साबित हुआ। सप्ताह के पहले तीन दिनों में ही शेयर बाजार में 3.60 लाख करोड़ रुपये डूब चुके थे। ऐसे सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन को लेकर भी निवेशक सशंकित थे। हालांकि अंतरराष्ट्रीय बाजार से मिल रहे…

Read More

न मुलाकात हो और न ही बात हो

: अनुराग साहू भारत को अब अच्छी तरह से समझ लेना चाहिए कि पाकिस्तान उस दुम की तरह है, जो कभी सीधी नहीं होती। भारत बार-बार शांति प्रयासों के तहत उससे बातचीत करने का मन बनाता है, लेकिन हर बार पाकिस्तान भारत के साथ छल का ही सहारा लेता है। पाकिस्तान बार-बार विश्वासघात करता है, अपने वायदों से मुकरता है और फिर बातचीत की विफलता का दोष भी भारत पर ही मढ़ने की कोशिश करता है। ताजा मामला पाकिस्तान के नये प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को…

Read More

अध्यादेश तो ले आए, विधेयक कैसे पारित कराएंगे

: डॉ. कविता सारस्वत संसद के मानसून सत्र में मुस्लिम वीमेन (प्रोटेक्शन ऑफ राइट्स ऑन मैरिज) बिल- 2017 यानी तीन तलाक विधेयक के अटक जाने के बाद से ही उम्मीद की जा रही थी कि केंद्र सरकार इस संबंध में अध्यादेश लेकर आएगी। हुआ भी वही। बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में तीन तलाक अध्यादेश को मंजूरी दे दी गयी। ये अध्यादेश अगले छह महीने तक मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक की परेशानियों से बचाने का काम करेगा। इस अध्यादेश में तीन…

Read More

अदृश्य दीवार करेगी सीमा की सुरक्षा

: अनुराग साहू सुनने में यह काफी अच्छा लगता है कि अब देश की सीमा की सुरक्षा अदृश्य इलेक्ट्रॉनिक दिवारें करेंगी। जम्मू में पाकिस्तान से लगती अंतरराष्ट्रीय सीमा पर साढ़े पांच किलोमीटर के दो पायलट प्रोजेक्ट लांच किये गये हैं। इसके तहत जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा के दो हिस्सों में अपनी तरह का पहला हाईटेक सर्विलांस सिस्टम तैयार किया गया है, जो जमीन, पानी और हवा में अदृश्य अवरोध इलेक्ट्रॉनिक बैरियर यानी स्मार्ट फेंस का काम करेगा। इसकी मदद से बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) को घुसपैठियों को पहचानने और घुसपैठ…

Read More

किसान पर देना होगा पूरे देश को ध्यान

: सियाराम पांडेय ‘शांत’ 2019 का लोकसभा चुनाव सिर पर है। इसे देखते हुए राजनीतिक दलों की आम जन के बीच आमदरफ्त तेज हो गई है। जनता को लुभाने के लिए अनेक वादे किए जा रहे हैं। सत्तापक्ष और विपक्ष एक दूसरे पर आरोपों-प्रत्यारोपों के गोले दाग रहेत्तापक्ष को नाकारा साबित करने में जहां पूरा विपक्ष जुटा है, वहीं सत्ता पक्ष भी कुछ कम संघातक गोले नहीं फेंक रहा है। राहुल गांधी ने अगर मध्यप्रदेश ही नहीं, देश भर के किसानों का कर्जमाफ करने का दावा किया है तो बीजेपी…

Read More

बीजेपी को लाभ देंगे मोदी-योगी के नव प्रयोग

: सियाराम पांडेय ‘शांत’ वर्ष 2019 के चुनाव की तैयारियां आरंभ हो गई हैं। जातिगत आधार पर मतदाताओं को रिझाने के प्रयास भी तेज हो गए हैं। जातीय सम्मेलनों को कमोबेश इसी रूप में देखा जा सकता है। जिन जातीय सम्मेलनों का विपक्ष में रहते हुए बीजेपी विरोध किया करती थी। उन्मेलनों की न केवल बीजेपी अगुआई कर रही है, बल्कि उसके नेता उसमें शिरकत भी कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इंदौर के एक मस्जिद में उपस्थिति भी चर्चा के केंद्र में है। इसे ‘सबका साथ-सबका विकास’ की…

Read More

हर दल को हिन्दुत्व का ही सहारा

: योगेश कुमार सोनी देश की सभी पार्टियां हिन्दुत्व का सहारा लेकर आगे बढना चाहती है। हाल के दिनों में विभिन्न दलों में चल रही गतिविधियों से ये बात साफ साफ पता चलती है। राहुल गांधी ने कैलाश मानसरोरा से हिन्दुओं को रिझाने की पूरी कोशिश की है तो ममता बनर्जी ने पहली बार पश्चिम बंगाल की दुर्गा पूजा समितियों को 28 करोड़ रुपये देने की घोषणा की है। हर समिति को दस हजार नकद व लाइसेंस में छूट के अलावा अन्य कई तरह की सुविधाएं दिए जाने की बात…

Read More

मध्यप्रदेश की राजनीति में आदिवासी चेतना का उभार

जावेद अनीस इस साल के अंत तक मध्यप्रदेश में चुनाव होने हैं, लेकिन इधर पहली बार दोनों प्रमुख पार्टियों से इतर राज्य के आदिवासी समुदाय में स्वतन्त्र रूप से सियासी सुगबुगाहट चल रही है. गोंडवाना गणतंत्र पार्टी तो पहले से ही थी जिसका कांग्रेस को सत्ता से बाहर करने में अहम् रोल माना जाता है.अब जयस यानी जय आदिवासी युवा शक्ति जैसे संगठन भी मैदान में आ चुके हैं जो विचारधारा के स्तर पर ज्यादा शार्प है और जिसकी बागडोर युवाओं के हाथ में हैं. जयस की सक्रियता दोनों पार्टियों…

Read More

प्रधानमंत्री मोदी पर अमर्यादित टिप्पणी कहीं साजिश तो नहीं

मो. सईद अहमद जहाँ एक ओर प्रधानमंत्री नरेन्द्र दामोदर दास मोदी की तारीफ करने वालों की फौज काम कर रहीं है, जिन्हें लोग मोदी भक्त कहकर संबोधित करते है। वहीँ दूसरी ओर लोग अमर्यादित टिप्पणी करने से भी नहीं चूकते। अभी तक यह काम सोशल मीडिया और विरोधी खेमें के नेता करते थे लेकिन अब तो प्रतिष्ठित समाचार एजेंसी भी अमर्यादित टिप्पणी करने लगी है। हालांकि समाचार एजेंसी ने अमर्यादित टिप्पणी के लिए खेद व्यक्त किया है, साथ ही जिम्मेदार ब्यूरों पर कार्यवाही भी की है। लेकिन जब जब नरेन्द्र…

Read More

भारत में विधि व्यवस्था को चुनौती देता भीड़तंत्र

: सियाराम पांडेय ‘शांत’ भीड़ हिंसक हो रही है। उसकी सहनशीलता जवाब दे रही है। पुलिस पर उसे विश्वास नहीं रहा। अदालत पर उसे यकीन नहीं। उसे लगता है कि पुलिस-प्रशासन और न्यायपालिका से शिकायत समय और धन की बर्बादी है। इसलिए जनता खुद न्याय कर रही है। यह स्थिति अत्यंत भयावह है। केवल गाइड लाइन जारी करना ही काफी नहीं, इस तरह के हालात क्यों बने, इस पर भी मंथन जरूरी है। पुलिस और न्यायपालिका को भी इस बाबत गंभीर होना होगा। भीड़ अगर कानून को अपने हाथ में…

Read More