हमारी नीतियां स्पष्ट, नीयत साफ : प्रधानमंत्री

जांजगीर/रायपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शनिवार को जांजगीर में आयोजित किसान सम्मेलन में शामिल हुए। उन्होंने वहां करोड़ों की सड़क और रेल परियोजनाओं को उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री मोदी ने संबोधन की शुरुआत छत्तीसगढ़ी में की। महतारी, बहिनी, जवान मन ला जय जोहर, इसके बाद उन्होंने कहा कि जय सतनाम। उन्होंने छत्तीसगढ़ी में कहा मोला अतका बड़े संख्या में गोठियाए के मौका मिले हे। उन्होंने कहा कि आप लोगों के प्यार और आशीर्वाद हमें कुछ न कुछ नया करने की प्रेरणा देता है। अटल जी ने सपना देखा था कि छत्तीसगढ़, झारखंड और उत्तराखंड का निर्माण विकास को केन्द्र में रखकर इन राज्यों का निर्माण किया था। अटल जी की सोच कितनी दूरगामी थी। लोग तरह-तरह के आरोप लगाते हैं, लेकिन फिर भी छत्तीसगढ़ की जनता न हिली और तीन बार सरकार दी। आप लोगों की बदौलत ही आज सीएम रमन सिंह को दिल्ली की बार-बार दौड़ नहीं लगानी पड़ती। पूर्ण बहुमत से राज्य बनाने के क्या फायदे होते यह छत्तीसगढ़ के लोग बेहतर समझते हैं। आपका चाउर वाला बाबा, अगर चाहता तो चावल बांटकर वोट की राजनीति करता, लेकिन रमन सिंह ने ऐसा नहीं किया। उन्होंने गरीबों को जूते पहनाएं, शौचालय बनवाएं, नमक पहुंचाया। विकास की सीमा नहीं होती। हर पल नई ऊंचाईयों को पार करने का इरादा होना चाहिए। इस राज्य की पहचान नक्सलवाद से होती, लेकिन भाजपा सरकार के काम ने इस छवि को बदला है। पीएम ने कहा कि हमारी नीतियां स्पष्ट हैं, हमारी नीयत साफ है। दिल्ली हो या छत्तीसगढ़ का अटल नगर। हमारी कोशिश है, कि हर व्यक्ति के जीवन मे परिवर्तन आये। शासन की योजनाओं, नीतियों और कार्यों का लाभ लोगों को सीधे मिले। उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि एक कांग्रेसी पीएम ने कहा कि एक रुपया निकलता है और 15 पैसे पहुंचे है, लेकिन अब पूरा सौ पैसा पहुंचता है, इसलिए काम दिखता है। डॉ. रमन सिंह ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी जैसा प्रधानमत्री बनने से ही देश का विकास होता है। पीएम ने गरीबों के लिए कई योजनाएं चलाई है। उन्होंने छत्तीसगढ़ को आगे बढ़ाने में बड़ी भूमिका निभाई है। इस दौरान सीएम ने विभिन्न फसलों के समर्थन मूल्य के बारे में बताया। सीएम किसानों को मिलने वाली मुफ्त बिजली का भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि समर्थन मूल्य में पीएम ने बढ़ोतरी की है, जो इतिहास में पहली बार हुआ है।

This post has already been read 4971 times!

Sharing this

Related posts

Leave a Comment